बिहार के विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद अब बिहार में सरकार गठन की तैयारियां तेजी से चल रही हैं, वही आज एनडीए के नेताओं की भी बैठक रखी गई है,जिसमें मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान होगा, इस बैठक में नीतीश कुमार के नाम का ऐलान हो सकता है, और बात करें डिप्टी सीएम की तो वह कामेश्वर चौपाल हो सकते हैं, कामेश्वर चौपाल 1989 में राम मंदिर की पहली ईंट रखने वाले व्यक्ति हैं।

जानिए कौन है कामेश्वर चौपाल- कामेश्वर चौपाल दलित समुदाय से हैं, कामेश्वर चौपाल ने 1989 में राम मंदिर की पहली ईट रखी थी, और साथ ही आर एस एस में भी इनको पहले कारसेवक का दर्जा दिया गया है, सन 1991 में इन्होंने रामविलास पासवान के विरोध में चुनाव भी लड़ा था।

मधुबनी से रहे प्रचारक- कामेश्वर चौपाल ने मधुबनी जिले से ही पढ़ाई-लिखाई की थी यहां पर वह संघ के प्रचारक भी रहे हैं, वह संघ के प्रति पूरी निष्ठा से समर्पित रहे।

कामेश्वर चौपाल का राजनीतिक कैरियर – कामेश्वर चौपाल ने सन 1991 में लोक जनशक्ति पार्टी के दिवंगत नेता श्री रामविलास पासवान के खिलाफ चुनाव भी लड़ा था जिसमेंं उनको पराजय का सामना करना पड़ा, इसके बाद फिर वह 2002 में बिहार विधानसभा परिषद के सदस्य भी रहे, फिर 2014 में भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें पप्पू यादव की पत्नी रंजीता रंजन के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा था परंतु फिर से उनको हार का सामना करना पड़ा।

नोट- YUGEXPRESS को नीचे दिये गये बैल आइकन दबा कर सब्सक्राइब करें,जिससे हमारी खबरें सबसे पहले आप तक पहुँचे…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here